गोवा जाने का इतना सस्ता प्लान तो आज तक किसी ने नहीं बताया

0
3321
views
गोवा का अवर लेडी ऑफ इम्मेक्युलेट कंसेप्शन चर्च

मुंबई टू गोवा ट्रिप के बारे में सुना तो बहुत होगा, जाने की कोशिश भी बहुतों ने की होगी लेकिन जैसा कि किसी दूरदर्शी महापुरुष ने कहा है कि गोवा के प्लान्स बनते ही कैंसिल होने के लिए हैं। ‘हे भगवान मुझे उठा ले और गोवा में फेंक दे’, गोवा से जुड़ी ऐसी तमाम कहावतें तो सोशल मीडिया पर आपने बहुत पढ़ी और देखी होगीं। कई बार बजट तो कई बार समय की कमी के रहते गोवा जाने का प्लान कैंसल हो ही जाता है। चलो अब प्लान चौपट करने का सिलसिला यहीं खत्म करते हैं। मैं आपको बहुत ही सस्ते में गोवा घूम आने का जुगाड़ बताती हूं।

कैसे पहुंचें

मुंबई टू गोवा कई बसें और कई ट्रेनें जाती हैं, जो आपको मडगांव 10 से 12 घंटे में पहुंचा देगी। ये ट्रेनें आपको मुंबई के बांद्रा, सीएसटी, दादर जैसे तमाम बड़े स्टेशनों से मिल जाएगी। हर दिन मुंबई टू गोवा सैकड़ों ट्रेन जाती हैं, जिनके स्लीपर क्लास में आप आराम से तकरीबन चार सौ रुपए में गोवा के मडगांव पहुंच जाएंगे। जल्द ही मुंबई टू गोवा जहाज सुविधा भी शुरू होने वाली है। मडगांव गोवा से जु़ड़ा सबसे नजदीकी स्टेशन है। इस स्टेशन से गोवा के अलग-अलग बीच जाने के लिए आपको टैक्सी सुविधा मिल जाएगी। ये टैक्सी तकरीबन सात सौ रुपए में आपको कैलंगट बीच पहुंचा देगी। ये बीच नॉर्थ गोवा का सबसे बड़ा बीच है।

एडवेंचर का मजा लेना न भूलें

लंबे-लंबे खजूर के पेड़, चमकीली रेत और लहराता समुद्र। ऐसे में अगर यहां एडवेंचर का मजा नहीं लिया तो बेकार है। गोवा के लगभग हर बीच पर स्पोर्ट्स होते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि यदि आप एक एक स्पोर्ट्स करेंगे तो आपको महंगा पड़ेगा। बेहतर होगा कि आप पूरा पैकेज लें। इससे आप तकरीबन सौलह सौ रुपए में पैरासेलिंग, बाइक राइड, बनाना राइड और डॉल्फिन सर्च पर जा सकते हैं। डॉल्फिन सर्च में आप नाचती हुईं डॉल्फिन के साथ माल्या हाउस, लाइट हाउस, सेंट्रल जेल देख सकते हैं।

गोवा पहुंचकर समुद्र के साथ अठखेलियां न की जाएं तो बेकार है, यहां होने वाले वॉटर स्पोर्ट्स आपको भरपूर मजा देंगे। ध्यान रहे, ठगी का शिकार होने से बचें। जानकारी न होने के कारण वॉटर स्पोर्ट्स में लोग मनमाने पैसे मांग लेते हैं तो बार्गेनिंग जरूर करें।

पैरासेलिंग

ये एक तरह का एडवेंचर स्पोर्ट है। इसमें एक व्यक्ति को नाव या स्टीमर (जोकि एक पैराशूट के साथ जुड़ा हुआ होता है) से पीछे खींचा जाता है, जिसे पैरासेल कहते हैं। यह नाव तब पैरासेंलिंग करने वाले को हवा में उड़ाते हुए आगे बढ़ जाती है और बीच-बीच में पानी में डुबोती जाती है।

समुद्र और आकाश के बीच झूलने का अपना ही मजा है

बनाना राइड

अपने नाम के मुताबिक, बनाना राइड केले के आकार की रबर बोट होती है जोकि किसी स्टीमर या नाव के सहारे बंधी होती है। इस पर एक बार में चार से पांच लोग बैठ सकते हैं। राइड करने वालों की हिफाजत के लिए उन्हें सेफ्टी जैकेट पहनाया जाता है। तेजी से भागते स्टीमर से बंधी राइड समुद्र का पानी उड़ाते लोगों को सनसनाते हुए ले जाती है।

अगौड़ा फोर्ट

गोवा में बीच के अलावा भी बहुत कुछ है। कैलंगट बीच से सात किलोमीटर दूर अगौड़ा फोर्ट है। जहां आप नाव से भी पहुंच सकते हैं। यह फोर्ट 1612 शताब्दी में पुर्तगालियों ने बनवाया था ताकि समुद्र के जरिए जो लोग आ रहे हैं उन्हें पानी पहुंचाया जा सके। अगौड़ा किले में एक बड़ी सी टंकी बनी हुई है। जिसमें सैकड़ों लीटर पानी स्टोर किया जा सकता है। अगौड़ा एक पुर्तगाली शब्द है जिसका मतलब होता है पानी का स्थल। इस फोर्ट में आमिर खान की फिल्म ‘दिल चाहता है’ की शूटिंग भी हुई थी।

अगौड़ा फोर्ट

रुकने की जगह

सस्ता अच्छा और टिकाऊ जगह चाहिए तो गोवा में कई ऐसे हॉस्टल हैं जो आपको सिर्फ 500 रुपए में डॉर्मेटरी सुविधा देंगे। इतना ही नहीं कुछ हॉस्टल तो आपको सिर्फ 250 रुपए में ही मिल जाएंगे। इन हॉस्टल में आपको शेयरिंग की भी फैसिलिटी मिल जाएगी। साफ सुथरे होने के साथ ही इन हॉस्टल के कमरों में आपको काफी क्रिएटिविटी भी दिखेगी। यहां आप वाई-फाई की सुविधा से लेकर बारबेक्यू का भी मजा ले सकते हैं।

इन हॉस्टल से आपको घूमने के लिए साइकिल या स्कूटी भी मिल जाएगी ताकि आप अपने अनुसार गोवा का लुत्फ उठा सकें। गोवा में घूमने के लिए बाइक भी सस्ती रेट पर अवेलेबल रहती है। यहां तकरीबन तीन सौ रुपए में आप एक दिन के लिए स्कूटी या बाइक हायर कर सकते हैं। हां, छुट्टी और वीकेंड पर रेट बढ़ जाने की संभावना रहती है।

शॉपिंग

गोवा में रंग बिरंगे टी शर्ट्स और शॉर्ट्स का काफी क्रेज है। अगर आपको सस्ते में अच्छी शॉपिंग करनी है तो बागा बीच से कुछ दूर पर लगने वाली सैटरडे नाइट मार्केट जरूर जाएं। ये मार्केट सिर्फ शनिवार को ही लगती है। यहां आपको कपड़े, जूते, होम डेकॉर से लेकर खाने-पीने का सामान बहुत ही सस्ते में मिल जाएगा।

तो इस हिसाब से तकरीबन चार-पांच हजार में आपका गोवा जाने और वहां से मस्त घूमकर आने का सपना पूरा हो सकता है।


ये तमाम जरूरी बातें हमें लिख भेजी हैं शालू अवस्थी ने। शालू पत्रकार हैं, अभी जल्द ही महाराष्ट्र में रहने आई हैं। घूमने की जितनी भी दबी आकांक्षाएं थीं, यहां आकर उनको पंख लग गए हैं। बताती हैं कि अब तो हर वीकेंड निकल लेती हैं कहीं न कहीं घूमने। धुन सवार है कि जितना घूम सकें उतना घूम डालें, बस घूम डालें। स्वादिष्ट व्यंजनों में जान बसती है। फोटो खिंचवाना पसंदीदा शगल है। 


ये भी पढ़ेंः

भारत की दूसरी जन्नत में चलेंगे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here