हर घुमक्कड़ का सपना होता है हिमाचल प्रदेश जाना

0
1296
views

हिमाचल प्रदेश पर्यटकों के लिए हमेशा से ही आकर्षण का केंद्र रहा है। अगर आप बर्फ के दीवाने हैं और एडवेंचर की तलाश में हैं तो ये आपके लिए बिल्कुल सही जगह है। हिमाचल का नाम सुनते ही हमारे मन में पहाड़, बर्फ और खूब सारी मस्ती उभरने लगती है। आज हम आपको हिमाचल प्रदेश की ऐसी पांच जगहों के बारे में बताएंगे जो लोगों की नजरों से दूर ही रहे हैं लेकिन असली हिमाचल का जादू तो यहां फैला हुआ है।

तीर्थन घाटी

यदि आप प्रकृति की वास्तविकता का अनुभव करना चाहते हैं, महसूस करना चाहते हैं तो तीर्थनघाटी आपके लिए स्वर्ग से कम नहीं। यह स्वर्ग तीर्थन नदी से 1600 मीटर की दूरी पर स्थित है। इस निर्जन घाटी को ट्राउट मछली पकड़ने, शिविर और एडवेंचर स्पोर्टस के लिए जाना जाता है। घुमावदार जंगलों में ट्रेकिंग और कैंपिंग के भी अपने मजे हैं।

चितकुल

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में एक छोटा गांव चितकुल है। 3450 मीटर की ऊंचाई पर, यह भारत-तिब्बत की सीमा के पास स्थित अंतिम बसा हुआ गांव है। पर्यटक आमतौर पर सांगला में रहते हैं और उसी दिन चितकुल की यात्रा की योजना बनाते हैं। बासपा नदी आपकी यात्रा में साथ ही साथ चलती रहती है। यहां पर पांच सौ साल पुराना चितकुल देवी का एक मंदिर है जहां आप दर्शन-पूजन के लिए जा सकते हैं।

पब्बर घाटी

पब्बर घाटी अलौकिक एहसास और प्रकृति का मिश्रण है। यहां के फूलों और फलों से भरी घाटियां आपका दिल चुरा लेंगी। पब्बर पर छोटे-छोटे पहाड़ी गांव बसे हुए हैं जो एक तरह की अलग दुनिया का आभास दिलाते हैं। इस घाटी पर बर्फ की मोटी चादर जमी रहती है। यकीन मानिए, पब्बर एक साथ कई एहसास दे जाता है। खुशी का, आह्लाद का, रोमांच का।

थानेदार

थानेदार शिमला की चहल-पहल से लगभग 80 किलोमीटर की दूरी पर एकदम शांत स्थान है। इसे हिमाचल प्रदेश का फलों का कटोरा कहा जाता है। गर्मी के मौसम में जब यहां बागों में बहार होती है उस वक्त यहां सैर का अलग ही आनंद होता है। आपने हिमाचली सेब तो खाए ही होंगे, उनमें से अधिकांश थानेदार से ही आते हैं। अगर आप सेब के बगीचे में घूमने व ताजे रसीले फलों को खाने से कुछ वक्त निकाल सकें तो थोड़ा ठहरें और यहां चारों ओर फैली अद्भुत हिमाच्छादित पर्वत चोटियों और  तलहटी में बहती सतलज नदी को जरूर निहारें।

बड़ोत

वैसे तो लगभग पूरा हिमाचल प्रदेश पर्यटन के लिए विख्यात है परन्तु कुछ ऐसे स्थल हैं जिनको पर्यटन की दृष्टि से उतना श्रेय व प्रोत्साहन नहीं मिला जिसके वे हकदार हैं। ऐसा ही एक स्थान है मंडी की चौहार घाटी में स्थित बड़ोत। चंडीगढ़-मनाली हाईवे पर स्थित मंडी से महज 66 किलोमीटर दूर स्थित बरोट देवदार के घने जंगलों से घिरा हुआ एक अत्यंत सुन्दर स्थान है। बड़ोत पिकनिक, ट्रेकिंग, माउंटेन क्लाइंबिंग जैसे एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिए एक अदभुत स्थान है।


ये भी पढ़ें:

दिल जीत लेता है आंध्रप्रदेश, यकीन न हो तो खुद घूम आओ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here